देवदार के गुण और उससे होने वाले आयुर्वेदिक इलाज

287

परिचय (Introduction)

देवदार के पत्ते हरे रंग के और कुछ लाली लिए हुए होते हैं। यह तीखा तेज स्वाद और कर्कश सुगन्ध वाला होता है। देवदार एक बहुत बड़ा लंबा और सीधा पेड़ है। इसकी तासीर गर्म होती है।

गुण (Property)

देवदार सूजनों को पचाती है। सर्दी से उत्पन्न होने वाली पीड़ा को शान्त करती है, पथरी को तोड़ती है। इसके लकड़ी के गुनगुने काढे़ में बैठने से गुदा के सभी प्रकार के घाव नष्ट हो जाते हैं।

हानिकारक प्रभाव (Harmful effects)

देवदार का अधिक मात्रा में उपयोग फेफड़ों के लिए हानिकारक होता है।